हर बेटे को सुनना चाहिए.:Inspirational Father Message to Son..: written by Kavi Sandeep Dwivedi



हर बेटे को सुनना चाहिए..

मेरे बच्चे !! तुम कुछ समय में इस आशाओं भरी, उम्मीदों भरी, रंग भरी दुनिया में कदम रखने वाले हो--
हजारों दुआओं की कतारें तुम्हारे लिए लगी हैं और मैं भी तुम्हे लेकर बहुत उत्साहित हूँ ..
बेटे जबकि आज तुम इस दुनिया में कदम रखने वाले हो.. मैं इस समय युवा हूँ ,मुझमे शक्ति है ,आशाएं भरी पड़ी हैं ,जूनून सीमाएं लांघ रहा है--आज मैं स्वस्थ हूँ-- बीमार नही हूँ आज हर काम करने में समर्थ हूँ, सपनें पूरे करने की ताकत है मुझमें..
और तुम्हारी सारी जिम्मेदारी भी हम दोनों पर है..

बेटे, अब तुम जो भी करोगे दुनिया मुझे उसी हिसाब से आंकेगी..
मेरे बच्चे तुम्हारे बड़े होने के साथ मेरी अवस्था भी ढलेगी..मुझमे असमर्थता आयेगी ,थकान लगेगी और परिस्थितियों के चलते हो सकता है कि.. मैं तुम्हे वो बातें न समझा पाऊं जो एक पिता को पुत्र से कहनी चाहिए...
इसलिए मैं ये पत्र तुम्हारे लिए लिख रहा हूँ ..जो  हमेशा तुम्हारी मदद करेगा ..

मेरे बच्चे ,समय बड़ी तेज़ी से बदल रहा है हर तरफ विकास की बातें हो रही हैं..और इसके लिए कोई भी कीमत दी जा रही है ..जब तक तुम इस उम्र में आओगे ..तुम्हे एक नई ही दुनिया मिलेगी
वो समय ऐसा होगा जिसमे हर चीज की कीमत होगी ..तुम्हारी अच्छाई की भी और तुम्हारी बुराई की भी ..अब ये तुम पर निर्भर करेगा कि तुम क्या बेचते हो ..

बेटे, हम अपने आसपास के माहौल को देख कर सारी दुनिया को उसी नजरिये से देखने लगते हैं...
अगर तुम अच्छे हो तो अच्छाई तुम्हारा साथ देगी और बुराई से चालाकी से निबटने का उपाय भी बताएगी...
बेटे हो सकता है तुम्हे हमारा बरताव कठोर लगे लेकिन ये सब तुम्हारे हित के लिए ही होगा..
.. मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ ..
बेटे आज क्रिएशन का युग है इसलिए तरक्की के लिए तुम्हे हर एक दांव पेंच सीखने होंगे और बुरे रास्ते में जाने से खुद को हर कीमत पर बचाना होगा..

मेरे बेटे.. जिन्दगी में कभी डरना मत ये सिर्फ भ्रम है तुम्हे भटकाने के लिए ,दबाने के लिए ..
ये सब तुम्हारे साथ कई बार होगा ,बार बार होगा...

मेरे बेटे कई बार तुम्हे तुमसे ज्यादा काबिल लोग मिलेंगे.. इससे तुम खुद को कमजोर मत समझना
 याद रखना वो तुम्हारा काम बेहतर कर लेते होंगे लेकिन वो तुम्हारा तरीका नही सीख सकते.. हमेशा तरीके पर गौर करना ..

मेरे बेटे, अगर तुम किसी काम में असमर्थ हो, अवस्थ हो तो अपने को हीन मत समझना ..याद रखना यदि तुममे आशाएं जिंदा हैं तो ये दुनिया सबका एक तरह से स्वागत करती है...

बेटे, सबसे पहले धन कमाने.. पैसे कमाने के गुर पर ध्यान देना.. तुम्हारी सारी जरूरतें वही पूरी करेगा..

बेटे, जब मेरे दिए पैसों की फिज़ूलखर्ची का विचार आए तो एक बार ये जरुर सोचना कि तुम्हारा पिता भी ऐसा कर सकता था ..
बेटे जीवन में संस्कारों का बड़ा महत्व है और इसकी कीमत हमेशा होगी ..तुम्हारे समय में हो सकता है ये कहीं कमतर हो या प्रभावित हो लेकिन याद रखो इस दुनिया में जो चीज़ कम होती है उसकी कीमत बहुत ज्यादा होती है ..
बेटे ,जब तुम बड़े होगे तो एक समय ऐसा भी आयेगा जब तुम किसी को पसंद करोगे लेकिन वो तुम्हारी भावनाओं की क़द्र नही करेगा तो बेटे तुम दुखी मत होना, निराश मत होना ,अपने लक्ष्य से मत भटकना
क्यूंकि वो तुम्हे मिलकर भी सही मायने में सुकून नही देगा... बेटे तुम खुश उसी के साथ रह सकते हो जो तुम्हे पसंद करता हो....
इसलिए कभी अपनी पसंद को किनारे रखकर उसकी भावनाओं को समझना जो तुम्हे पसंद करता हो ,हमेशा खुश रहोगे ..

मेरे बेटे, मैं तुम्हे ज़माने से पीछे चलने के लिए नही कह रहा तुम साथ चलो , तुम्हे साथ चलना होगा लेकिन कुछ चीजों को इस दौड़ में शामिल मत करना बेटे वरना वो कुचल जाएँगी.. जैसे कि तुम्हारा संस्कार ..

अपने पूर्वजों की यादें, विरासत सब सम्भाल कर रखना वो अनमोल हैं उनका भाव मत लगाना ..
आप हमेशा रिश्तों का ख्याल रखना और अगर मैं कभी तुम्हारी मम्मी पर नाराज हो जाऊं तो उनसे कहना कि उनकी तबियत ठीक नही है पिता जी आपको बहुत प्यार करते हैं थोड़ी देर में मान जायेंगे ..
मेरे बेटे जिन्दगी में खुद को ऐसा बनाने की कोशिश करना कि जो तुमसे मिले ,जिससे तुम मिलो, जिसके आगे तुम झुको, वो अपने आप में गर्व महसूस करे..

बेटे, इन सारी बातों में कई सीखें छिपी हैं उम्मीद है तुम समझोगे और मैं लोगों से सुन सकूंगा कि वो देखो उनके पिता आ रहे हैं..मैं ख़ुशी से भर जाऊंगा बेटे ..
मेरे बेटे, मैंने तुम्हारा सम्मान बनाने के लिए अपने आपको हर गलत कामों से ,बुराई से बचाने की कोशिश की है कभी अपने स्वाभिमान को गिरने नही दिया है ताकि तुम सर उठाकर जी सको और ये गर्व से कह सको कि मैं तुम्हारा पिता हूँ और मैं भी ये गर्व से कह सकूं कि तुम मेरी संतान हो ..
कई अनकही उम्मीदों के साथ तुम्हारा पिता ....

Comments